राजनाथ सिंह की पाकिस्तान को चेतावनी, PoK में अत्याचार किया तो अंजाम भुगतने के लिए रहे तैयार

Rajnath Singh


नई दिल्ली: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने पाकिस्तान को खुली चेतावनी दी. रक्षा मंत्री ने कहा कि पाकिस्तान उसके कब्जे वाले कश्मीर (PoK) पीओके में लोगों पर अत्याचार कर रहा है और पाकिस्तान को इसके लिए अंजाम भुगतने पड़ेंगे. राजनाथ सिंह गुरुवार (27 अक्टूबर) को जम्मू-कश्मीर में इन्फेंट्री दिवस के मौके पर आयोजित कार्यक्रम में शामिल हुए थे.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह नेशौर्य दिवसकार्यक्रम को संबोधित करते हुए पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) को फिर से हासिल करने का संकेत देते हुए कहा कि केंद्र शासित प्रदेश जम्मू कश्मीर और लद्दाख में सर्वांगीण विकास का लक्ष्य पीओके के हिस्से ‘‘गिलगित और बाल्टिस्तान तक पहुंचने के बाद’’ ही हासिल किया जाएगा.

राजनाथ सिंह ने बताया अपना अगला लक्ष्य

रक्षा मंत्री ने कहा कि हमने जम्मू कश्मीर और लद्दाख में विकास की अपनी यात्रा अभी शुरू की है. जब हम गिलगित और बाल्टिस्तान तक पहुंच जाएंगे तो हमारा लक्ष्य पूरा हो जाएगा. गौरतलब है कि भारतीय वायु सेना ने आज ही के दिन 1947 में श्रीनगर पहुंचने की घटना की याद मेंशौर्य दिवसका आयोजन किया.

"आतंकवाद का कोई धर्म नहीं"

पाकिस्तान पीओके में लोगों के साथ दुर्व्यवहार कर रहा है. इसलिए इस पर प्रतिक्रिया देते हुए राजनाथ सिंह ने कहा कि इसके लिए पाकिस्तान को हानि झेलनी पड़ सकती है. साथ ही उन्होंने कहा कि आतंकवाद का कोई धर्म नहीं है. आतंकवादियों का एकमात्र उद्देश्य भारत को निशाना बनाना है.

"धारा 370 हटने से लोगों के खिलाफ भेदभाव खत्म"

रक्षा मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में पांच अगस्त 2019 को अनुच्छेद 370 निरस्त करने के केंद्र के फैसले से जम्मू कश्मीर में लोगों के खिलाफ भेदभाव खत्म हो गया. धारा 370 हटाने के बाद जम्मू कश्मीर में राष्ट्रपति को राज्य के संविधान को बर्खास्त करने का अधिकार प्रदान हो गया था. साथ ही भारतीय संसद के बनाए गए कानूनों को सभी जगह समान रूप से लागू किया गया.

Next Post Previous Post